Ask Google

Results for defeat is not bitter unless you swa... translation from English to Hindi

Human contributions

From professional translators, enterprises, web pages and freely available translation repositories.

Add a translation

English

Hindi

Info

English

defeat is not bitter unless you swallow it

Hindi

हार तब तक कड़वी नहीं होती जब तक आप उसे निगल नहीं लेते

Last Update: 2019-05-01
Usage Frequency: 1
Quality:

Reference: Anonymous

English

The best course is not to pay in advance unless you have to .

Hindi

सबसे अच्छी बात होगी कि संभव हो तो आप कोई भी एडवांस नहीं अदा करें ।

Last Update: 2020-05-24
Usage Frequency: 1
Quality:

Reference: Anonymous

English

If the firm goes out of business , you could get little or nothing back The best course is not to pay in advance unless you have to .

Hindi

कोई सामान या सेवाओं को पाने के पहले ही उनके दाम अदा करने के बारे में अच्छी तरह सोच लीजिए ।

Last Update: 2020-05-24
Usage Frequency: 1
Quality:

Reference: Anonymous

English

He will gulp it but will hardly swallow it . And death will come to him from everywhere , but he is not to die . And before him is a massive punishment .

Hindi

जिसे वह कठिनाई से घूँट - घूँट करके पिएगा और ऐसा नहीं लगेगा कि वह आसानी से उसे उतार सकता है , और मृत्यु उसपर हर ओर से चली आती होगी , फिर भी वह मरेगा नहीं । और उसके सामने कठोर यातना होगी

Last Update: 2020-05-24
Usage Frequency: 1
Quality:

Reference: Anonymous

English

He will gulp it but will hardly swallow it . And death will come to him from everywhere , but he is not to die . And before him is a massive punishment .

Hindi

उसे घूँट घँट करके पीना पड़ेगा और उसे हलक़ से आसानी से न उतार सकेगा और उसे हर तरफ से मौत ही मौत आती दिखाई देती है हालॉकि वह मारे न मर सकेगा - और फिर उसके पीछे अज़ाब सख्त होगा

Last Update: 2020-05-24
Usage Frequency: 1
Quality:

Reference: Anonymous

English

Believers , do not enter the houses of the Prophet , unless you are invited for a meal . Do not linger until a meal is ready . When you are invited enter and when you have taken your meal , depart . Do not stay on , indulging in conversation . Doing that causes annoyance to the Prophet , though he is too reticent to tell you so , but God is not reticent with the truth . When you ask for anything , ask them from behind a curtain . That will be purer for your hearts as well as their hearts . It is not right for you to cause annoyance to the Messenger of God or for you ever to marry his wives after him . Indeed that would be an enormity in the sight of God .

Hindi

ऐ ईमान लानेवालो ! नबी के घरों में प्रवेश न करो , सिवाय इसके कि कभी तुम्हें खाने पर आने की अनुमति दी जाए । वह भी इस तरह कि उसकी तैयारी की प्रतिक्षा में न रहो । अलबत्ता जब तुम्हें बुलाया जाए तो अन्दर जाओ , और जब तुम खा चुको तो उठकर चले जाओ , बातों में लगे न रहो । निश्चय ही यह हरकत नबी को तकलीफ़ देती है । किन्तु उन्हें तुमसे लज्जा आती है । किन्तु अल्लाह सच्ची बात कहने से लज्जा नहीं करता । और जब तुम उनसे कुछ माँगों तो उनसे परदे के पीछे से माँगो । यह अधिक शुद्धता की बात है तुम्हारे दिलों के लिए और उनके दिलों के लिए भी । तुम्हारे लिए वैध नहीं कि तुम अल्लाह के रसूल को तकलीफ़ पहुँचाओ और न यह कि उसके बाद कभी उसकी पत्नियों से विवाह करो । निश्चय ही अल्लाह की दृष्टि में यह बड़ी गम्भीर बात है

Last Update: 2020-05-24
Usage Frequency: 1
Quality:

Reference: Anonymous

English

Believers , do not enter the houses of the Prophet for a meal without waiting for the proper time , unless you are given permission . But if you are invited , enter , and when you have eaten , disperse , not desiring conversation , for that is hurtful to the Prophet and he would be shy before you ; but of the truth Allah is not shy . And when you ask his wives for anything , speak to them from behind a curtain , that is cleaner for your hearts and theirs . You must not hurt the Messenger of Allah , nor shall you ever wed his wives after him , surely , this would be a monstrous thing with Allah .

Hindi

ऐ ईमानदारों तुम लोग पैग़म्बर के घरों में न जाया करो मगर जब तुमको खाने के वास्ते इजाज़त दी जाए उसके पकने का इन्तेज़ार न करो मगर जब तुमको बुलाया जाए तो जाओ और फिर जब खा चुको तो चले जाया करो और बातों में न लग जाया करो क्योंकि इससे पैग़म्बर को अज़ीयत होती है तो वह तुम्हारा लैहाज़ करते हैं और खुदा तो ठीक से झेंपता नहीं और जब पैग़म्बर की बीवियों से कुछ माँगना हो तो पर्दे के बाहर से माँगा करो यही तुम्हारे दिलों और उनके दिलों के वास्ते बहुत सफाई की बात है और तुम्हारे वास्ते ये जायज़ नहीं कि रसूले खुदा को अज़ीयत दो और न ये जायज़ है कि तुम उसके बाद कभी उनकी बीवियों से निकाह करो बेशक ये ख़ुदा के नज़दीक बड़ा है

Last Update: 2020-05-24
Usage Frequency: 1
Quality:

Reference: Anonymous

English

A marital relation can only be resumed after the first and second divorce , otherwise it must be continued with fairness or terminated with kindness . It is not lawful for you to take back from women what you have given them unless you are afraid of not being able to observe God ' s law . In this case , it would be no sin for her to pay a ransom to set herself free from the bond of marriage . These are the laws of God . Do not transgress against them ; those who do so are unjust .

Hindi

तलाक़ दो बार है । फिर सामान्य नियम के अनुसार रोक लिया जाए या भले तरीक़े से विदा कर दिया जाए । और तुम्हारे लिए वैध नहीं है कि जो कुछ तुम उन्हें दे चुके हो , उसमें से कुछ ले लो , सिवाय इस स्थिति के कि दोनों को डर हो कि अल्लाह की सीमाओं पर क़ायम न रह सकेंगे तो यदि तुमको यह डर हो कि वे अल्लाह की सीमाओ पर क़ायम न रहेंगे तो स्त्री जो कुछ देकर छुटकारा प्राप्त करना चाहे उसमें उन दोनो के लिए कोई गुनाह नहीं । ये अल्लाह की सीमाएँ है । अतः इनका उल्लंघन न करो । और जो कोई अल्लाह की सीमाओं का उल्लंघन करे तो ऐसे लोग अत्याचारी है

Last Update: 2020-05-24
Usage Frequency: 1
Quality:

Reference: Anonymous

English

It is not a sin if you make an indirect marriage proposal or have such an intention in your hearts . God knows that you will cherish their memories in your hearts . Do not have secret dates unless you behave lawfully . Do not decide for a marriage before the appointed time is over . Know that God knows what is in your hearts . Have fear of Him and know that He is All - forgiving and All - merciful .

Hindi

और इसमें भी तुम पर कोई गुनाह नहीं जो तुम उन औरतों को विवाह के सन्देश सांकेतिक रूप से दो या अपने मन में छिपाए रखो । अल्लाह जानता है कि तुम उन्हें याद करोगे , परन्तु छिपकर उन्हें वचन न देना , सिवाय इसके कि सामान्य नियम के अनुसार कोई बात कह दो । और जब तक निर्धारित अवधि पूरी न हो जाए , विवाह का नाता जोड़ने का निश्चय न करो । जान रखो कि अल्लाह तुम्हारे मन की बात भी जानता है । अतः उससे सावधान रहो और अल्लाह अत्यन्त क्षमा करनेवाला , सहनशील है

Last Update: 2020-05-24
Usage Frequency: 1
Quality:

Reference: Anonymous

English

Believers , do not enter the houses of the Prophet for a meal without waiting for the proper time , unless you are given permission . But if you are invited , enter , and when you have eaten , disperse , not desiring conversation , for that is hurtful to the Prophet and he would be shy before you ; but of the truth Allah is not shy . And when you ask his wives for anything , speak to them from behind a curtain , that is cleaner for your hearts and theirs . You must not hurt the Messenger of Allah , nor shall you ever wed his wives after him , surely , this would be a monstrous thing with Allah .

Hindi

ऐ ईमान लानेवालो ! नबी के घरों में प्रवेश न करो , सिवाय इसके कि कभी तुम्हें खाने पर आने की अनुमति दी जाए । वह भी इस तरह कि उसकी तैयारी की प्रतिक्षा में न रहो । अलबत्ता जब तुम्हें बुलाया जाए तो अन्दर जाओ , और जब तुम खा चुको तो उठकर चले जाओ , बातों में लगे न रहो । निश्चय ही यह हरकत नबी को तकलीफ़ देती है । किन्तु उन्हें तुमसे लज्जा आती है । किन्तु अल्लाह सच्ची बात कहने से लज्जा नहीं करता । और जब तुम उनसे कुछ माँगों तो उनसे परदे के पीछे से माँगो । यह अधिक शुद्धता की बात है तुम्हारे दिलों के लिए और उनके दिलों के लिए भी । तुम्हारे लिए वैध नहीं कि तुम अल्लाह के रसूल को तकलीफ़ पहुँचाओ और न यह कि उसके बाद कभी उसकी पत्नियों से विवाह करो । निश्चय ही अल्लाह की दृष्टि में यह बड़ी गम्भीर बात है

Last Update: 2020-05-24
Usage Frequency: 1
Quality:

Reference: Anonymous

English

It is not a sin if you make an indirect marriage proposal or have such an intention in your hearts . God knows that you will cherish their memories in your hearts . Do not have secret dates unless you behave lawfully . Do not decide for a marriage before the appointed time is over . Know that God knows what is in your hearts . Have fear of Him and know that He is All - forgiving and All - merciful .

Hindi

और अगर तुम उन औरतों से इशारतन निकाह की ख़ास्तगारी करो या अपने दिलो में छिपाए रखो तो उसमें भी कुछ तुम पर इल्ज़ाम नहीं हैं ख़ुदा को मालूम है कि उन औरतों से निकाह करने का ख्याल आएगा लेकिन चोरी छिपे से निकाह का वायदा न करना मगर ये कि उन से अच्छी बात कह गुज़रों और जब तक मुक़र्रर मियाद गुज़र न जाए निकाह का क़सद भी न करना और समझ रखो कि जो कुछ तुम्हारी दिल में है ख़ुदा उस को ज़रुर जानता है तो उस से डरते रहो और जान लो कि ख़ुदा बड़ा बख्शने वाला बुर्दबार है

Last Update: 2020-05-24
Usage Frequency: 1
Quality:

Reference: Anonymous

English

Believers , do not enter the houses of the Prophet , unless you are invited for a meal . Do not linger until a meal is ready . When you are invited enter and when you have taken your meal , depart . Do not stay on , indulging in conversation . Doing that causes annoyance to the Prophet , though he is too reticent to tell you so , but God is not reticent with the truth . When you ask for anything , ask them from behind a curtain . That will be purer for your hearts as well as their hearts . It is not right for you to cause annoyance to the Messenger of God or for you ever to marry his wives after him . Indeed that would be an enormity in the sight of God .

Hindi

ऐ ईमानदारों तुम लोग पैग़म्बर के घरों में न जाया करो मगर जब तुमको खाने के वास्ते इजाज़त दी जाए उसके पकने का इन्तेज़ार न करो मगर जब तुमको बुलाया जाए तो जाओ और फिर जब खा चुको तो चले जाया करो और बातों में न लग जाया करो क्योंकि इससे पैग़म्बर को अज़ीयत होती है तो वह तुम्हारा लैहाज़ करते हैं और खुदा तो ठीक से झेंपता नहीं और जब पैग़म्बर की बीवियों से कुछ माँगना हो तो पर्दे के बाहर से माँगा करो यही तुम्हारे दिलों और उनके दिलों के वास्ते बहुत सफाई की बात है और तुम्हारे वास्ते ये जायज़ नहीं कि रसूले खुदा को अज़ीयत दो और न ये जायज़ है कि तुम उसके बाद कभी उनकी बीवियों से निकाह करो बेशक ये ख़ुदा के नज़दीक बड़ा है

Last Update: 2020-05-24
Usage Frequency: 1
Quality:

Reference: Anonymous

English

A marital relation can only be resumed after the first and second divorce , otherwise it must be continued with fairness or terminated with kindness . It is not lawful for you to take back from women what you have given them unless you are afraid of not being able to observe God ' s law . In this case , it would be no sin for her to pay a ransom to set herself free from the bond of marriage . These are the laws of God . Do not transgress against them ; those who do so are unjust .

Hindi

तलाक़ रजअई जिसके बाद रुजू हो सकती है दो ही मरतबा है उसके बाद या तो शरीयत के मवाफिक़ रोक ही लेना चाहिए या हुस्न सुलूक से बिल्कुल रूख़सत और तुम को ये जायज़ नहीं कि जो कुछ तुम उन्हें दे चुके हो उस में से फिर कुछ वापस लो मगर जब दोनों को इसका ख़ौफ़ हो कि ख़ुदा ने जो हदें मुक़र्रर कर दी हैं उन को दोनो मिया बीवी क़ायम न रख सकेंगे फिर अगर तुम्हे ये ख़ौफ़ हो कि यह दोनो ख़ुदा की मुकर्रर की हुई हदो पर क़ायम न रहेंगे तो अगर औरत मर्द को कुछ देकर अपना पीछा छुड़ाए तो इसमें उन दोनों पर कुछ गुनाह नहीं है ये ख़ुदा की मुक़र्रर की हुई हदें हैं बस उन से आगे न बढ़ो और जो ख़ुदा की मुक़र्रर की हुईहदों से आगे बढ़ते हैं वह ही लोग तो ज़ालिम हैं

Last Update: 2020-05-24
Usage Frequency: 1
Quality:

Reference: Anonymous

English

There is not an asterisk next to that commandment saying: "unless you walk on all four and have fur, feathers, horns, beaks or gills." You can keep your friends, your politics and you patriotism, still watch your favorite TV shows and listen to your favorite music, even if it's Ted Nugent. I'll be making some sarcastic, yet truthful comments throughout the speech.

Hindi

" अगर आप चार पैरों पर नहीं चलते और आपके पास फर, पंख, सींग, चोंच इत्यादि नहीं हैं, तो आप " आप अपने दोस्तों, राजनीति और देशभक्ति को अपने पास रख सकते हैं, अपने पसंदीदा टीवी शो देख सकते हैं और अपना पसंदीदा संगीत सुन सकते हैं, भले ही वह टेड नुजेंट है. मैं भाषण के दौरान कुछ व्यंग्यात्मक पर सच्ची टिप्पणी करूंगा. आप बेशक हसना चाहें तो हंसें जब भी आपका जी चाहे बस गंभीर भागों के दौरान नहीं हंसें. और मैं लगभग ६५ से ७० मिनट तक बोलूँगा, उसके बाद लगभग आधे घंटे आप मुझसे सवाल जवाब कर सकते हैं इस बीच, मैं आपसे कुछ प्रश्न पूछुंगा. क्या गुलामी, स्वामित्व, लाभ, प्रभुत्व सिर्फ इंसानों मैं पाए जाते हैं? क्या सिर्फ अश्वेत, यहूदी, औरतें और बच्चे ही क्रूरता के शिकार हैं? क्या गाय गुलामी की शिकार नहीं है? सूअर, मुर्गी, मछली और बकरी - क्या यह गुलामी के शिकार नहीं हैं? अगर यह सब गुलाम नहीं हैं तो और क्या हैं? आजाद?? क्या इंसान या जानवरों के अलावा कोई और चीज़ गुलामी की शिकार हो सकती है? क्या समुद्र, जंगल और धरती माता सभी स्वामित्व के शिकार नहीं हैं?? और क़साईख़ाना? हत्या का घर: कसाईखाना!!! क्या आपके विचार में किसी की हत्या दयापूर्वक करना संभव है? इस सन्दर्भ में दया या मानवीय जैसे शब्दों का क्या अर्थ है? मनोवैज्ञानिक और शारीरिक शोषण, यातना, बहिष्कार और हत्या के अलावा, बूचड़खानों में पशुओं के साथ क्या होता है? वहां क्या पशुओं की सेवा या मालिश होती है? और अगर आपको लगता है कि वहाँ "मानवीय या दयापूर्ण वध" होता है .. तो मैं आपसे ये पूछना चाहता हूँ - क्या आपको लगता है कि मानवीय" या दयापूर्ण बलात्कार संभव है? दयापूर्ण बाल शोषण? इंसानियत/दया से भरपूर गुलामी? दया से भरी हुई प्रलय या सर्वनाश? वास्तव में प्रलय की आप क्या परिभाषा देंगे? इसे आप इंसानों का संहार कहेंगे या फिर निर्दोष जीवों का संहार मानेंगे? मेरे विचार मैं प्रलय निर्दोष जीवों के संहार को कहते हैं .... अब सुनिए संसार के सबसे बड़े नरसंहार के बारे में अमेरिका में हर वर्ष क्रूरतापूर्वक, हम दस अरब जानवरों और 18 अरब समुद्री जानवरों की हत्या करते हैं. और ये हत्या स्वास्थ्य, अस्तित्व, जीविका या आत्म रक्षा के लिए नहीं की जाती है ..... लोग चार कारणों से वशीभूत हो कर मांस, पनीर, दूध और अंडे खाते हैं: आदत परंपरा सुविधा स्वाद मैं एक शब्द की परिभाषा देता हूँ जो कुछ लोगों के लिए नया हो सकता है -'वीगन' यह वहाँ है, स्क्रीन पर:

Last Update: 2019-07-06
Usage Frequency: 4
Quality:

Reference: Anonymous
Warning: Contains invisible HTML formatting

English

Cricket is one of the most popular games in India. The young and old alike are affected by this game. It is not a native game of India. The British who ruled our country introduced this game and now it has struck deep roots in our country. This game is mostly played in the commonwealth countries which were British colonies. The cricketing countries are England, Australia, India, Pakistan, Sri Lanka, South Africa, Zimbabwe, New Zealand, West Indies and Bangladesh. Netherlands, Ireland and the United Arab Emirates (U.A.E.) have also joined the band of cricketing countries. The cricket matches were usually played for five days with a day’s break. This day was called the ‘Rest-Day’. These were the ‘traditional’ test matches. Eleven players represent each side. A test match is divided into two innings known as the first innings and second innings. The victory or defeat is decided by the total runs scored by each team in the two innings. The team that scores the maximum runs is declared the winner. The five day test matches held sway for a long time. In recent times, one day cricket matches have become popular. In the test matches, the Rest-Day is withdrawn. The teams are expected to show their ‘mettle’ in one day matches. Normally each team is given fifty over’s and the participants display their skill in these ‘Limited Over’ matches. These matches are played during the day as well as night. The ‘One-day’ matches are more exciting and they have cast a spell on the spectators. These are ‘result-oriented’ matches and the spectators look forward to ‘nail-biting’ finishes. You must have seen some of these matches on your television. India has produced some great cricketers, who attained ‘International Celebrity’ status. C.K. Naidu, Nawab of Pataudi, Vijay Hazare, Lala Amarnath, Sunil Gavaskar, Kapil Dev, Viswanath, Chandrasekhar, Krishnamachari Srikanth, Azharuddin, Sourav Ganguly, Anil Kumble and Sachin Tendulkar are some of the bright stars who brotght laurels to India in international cricket. In India, besides test matches and one day matches at the national level, we have cricket matches at different levels. There are inter state matches and zonal matches. There are a number of trophies associated with Indian cricket. These are (1) Duleep Trophy, (2) Moinuddowla Gold Cup, (3) Vizzy Trophy, (4) Ranji Trophy and (5) Rohintan Baria Trophy (Inter-University Trophy). In the international field we have the Ashes. This is the symbolic trophy won by the winning team after a series of cricket matches between England and Australia. You must be aware of the world cup also. This is awarded to the best cricket team of the world. The Australians had the distinction of winning this cup thrice consecutively. Cricket, although limited to commonwealth countries and England is one of most popular games in the world of sports. Although advanced countries like the U.S.A. Russia and a sport loving country like China do not play this game, millions of people watch the cricket matches on television all over the world.

Hindi

क्रिकेट निबंध

Last Update: 2014-11-11
Usage Frequency: 1
Quality:

Reference: Anonymous

Get a better translation with
4,401,923,520 human contributions

Users are now asking for help:



We use cookies to enhance your experience. By continuing to visit this site you agree to our use of cookies. Learn more. OK